किसी भी काम में परफेक्ट बने इस तरह

क्या आप यह कोशिश कर रहे हैं कि आप जो भी काम करें उसमे परफेक्ट रहे? क्या आपके आस पास के लोग आपसे यही कहते रहते हैं कि आप कोई भी काम सही से नहीं कर सकते तो इस post में बताए गए tips को अपना कर आप उन्हें गलत साबित कर सकते हैं।

किसी भी काम में परफेक्ट होने से पहले हमें यह समझने कि ज़रूरत है कि perfection असल में है क्या? यह कुछ बड़ा हासिल करने और किसी काम को बीच में ही छोड़ देने के बीच का फर्क है। Perfection हमारी ज़िन्दगी में सफता के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। Perfect होना एक ऐसी खूबी है जिसके साथ हम पैदा नहीं होते बल्कि इसे हम धीरे धीरे सीखते हैं।

नीचे बताएं गए इन 7 बातों को पढ़ें और पूरी ईमानदारी से इसे अपनी life में अप्लाई करें:

1. अपने काम में एक लक्ष्य तय करें:
आप जिस भी काम में perfect होना चाहते हैं उस काम को छोटे छोटे लक्ष्य में बाँट दीजिये। इससे आपका उस काम को perfectly पूरा करना आसान हो जाएगा। मान लो की आप कोई नई language सीखना चाहते हो तो पहले grammar perfect करो फिर सबसे ज़्यादा इस्तेमाल की जाने वाले words की practice करो, फिर उस language में केवल listning पर फोकस करो, उस लैंग्वेज में न्यूज़ सुनो, interview देखो, और फिर speaking पर ध्यान दो, वो भाषा बोलने वाले लोगो से बात करके। इस तरह से काम को टुकड़ों में बाँट कर काम सीखना आसान हो जाएगा।

2. गलतियों से सीखें:
जब आप किसी काम में सफल हो जाते हो तो आपको बहुत ख़ुशी होती है और आगे काम करने की मोटिवेशन मिलती है। लेकिन जब आप किसी काम में असफल हो जाते हो तो आप निराश हो जाते हो और सोंचने लगते हो कि आपसे नहीं हो पाएगा। अगर आप हमेशा मोटिवेटेड रहना चाहते हो तो आपको अपनी हार को कुछ इस नज़रिये से देखना होगा कि भले ही आप हारे लेकिन आपको उस हार से बहुत कुछ सीखने को मिला।

इसलिए हर हार के बाद खुद से यह जरूर पूछें कि मैं क्यों हारा और मैं अगली बार क्या बेहतर कर सकता हूं जब आपको अपने सवालों के जवाब मिल जाएंगे तो आप सफलता के और करीब पहुंच जाएंगे।

3. हार मत मानो और धीरज रखो:

आपने अपनी लाइफ में ऐसे बहुत से लोग देखे होंगे जो हर काम बहुत ही परफेक्शन से करते हैं। आपको क्या लगता है यह perfection उन्हें रातों रात हासिल हुई है? उन्होंने यह काम बार-बार किया जब तक वह उस काम में परफेक्ट नहीं होगए। आपके अंदर भी यह दृढ़ निश्चय होना चाहिए।

प्रैक्टिस से ही किसी काम में perfection आती है इसलिए कोई भी काम करें तो उसे बार-बार करते रहे जब तक उस काम में आपको perfection ना मिल जाए।

4. काम अधूरा न छोड़े:
लोग अक्सर काम तो शुरू कर देते हैं और काफी हद तक उसमें आगे भी बढ़ जाती हैं लेकिन उसे अधूरा ही छोड़ देते हैं। अगर आपको लगता है जो काम आप कर रहे हैं वह सही नहीं है तो कुछ और try करें लेकिन अगर आपको उस काम पर पूरा भरोसा है तो उसे अधूरा न छोड़ें। ऐसा हो सकता है कि कामयाबी बस कुछ कदम आगे हो।

याद रखें कि आप जो भी लक्ष्य चुने उस पर आखिर तक डटे रहें। हर वो काम जो आपको अपने लक्ष्य को पूरा करने से रोकती है उससे दूर रहें।

5. दूसरे पर्फेक्ट लोगों से प्रेरणा ले

ऐसे लोगों से प्रेरणा ले जो अपने काम में माहिर हैं। उनके काम करने का तरीका decision लेने का तरीका और उनकी आदतों को गहराई से देखें और समझे और आप भी उन्हीं की तरह काम करने की कोशिश करें। ऐसे लोगों से प्रेरणा लें जो उसी प्रोफेशन में है जिस प्रोफेशन में आप हो और उसमे वह बहुत कामियाब हैं। ऐसा जरूरी नहीं कि वे लोग बहुत अमीर होने चाहिए बस उनके विचार और काम करने का तरीका best होना चाहिए।

उदाहरण के लिए अगर हम ए पी जे अब्दुल कलाम से प्रेरणा लें तो हार को देखने का उनका जो नजरिया था उससे हमें सीखना चाहिए। उन्होंने अपनी जिंदगी में बहुत से हार का सामना किया, लेकिन केवल हार के कारण उन्होंने कभी मेहनत करना और सपने देखना नहीं छोड़ा। उनका विचार था कि जिंदगी हमेशा उस तरीके से नहीं चलती जैसे आप प्लान बनाते हो। आप नहीं जानते कल क्या होने वाला है इसलिए खुद को आने वाली परेशानी के लिए पहले से तैयार रखें।

6 . दूसरों की गलतियों से सीखे

जिंदगी बहुत छोटी है और हमें बहुत कुछ हासिल करना है। हमारे पास इतना वक्त नहीं कि हम हर बार गलती करें और फिर उस गलती के सीखें। अगर आपको कम से कम वक्त में अपना लक्ष्य हासिल करना है तो बेहतर है कि दूसरों की गलतियों से सीखे। अपनी रोल मॉडल की ऑटो बायोग्राफी पढ़ें। उनको अपने लक्ष्य को हासिल करने में क्या-क्या दिक्कतें आई और क्यों आई इस पर रिसर्च करें। इसके लिए सबसे बेहतरीन तरीका है कि अपने रोल मॉडल की जीवनी पर लिखी गई किताबों को पढ़ें।

7 . खुद से बात करें

दो तरह के लोग ही खुद से बात करते हैं एक पागल और एक जीनियस। खुद से बात करें और सवाल पूछे। खुद से विकल्प पूछे और खुद ही को सलाह दें। जानत। आपके सपने और आप की कार्य क्षमता को आप से बेहतर और कोई नहीं जानता। हर कदम पर पूछे कि क्या मैं यह कदम सही ले रहा हूं? और आगे तभी बढ़ें जब आपको पूरा भरोसा हो।

लेकिन यह बात ध्यान रखें कि केवल productive चीजों के लिए ही खुद से बात करें। ज्यादा टेंशन लेना और हर वक्त कुछ सोचते रहना आपकी दिमागी सेहत के लिए अच्छा नहीं होता।

तो यह थे वह 7 स्टेप अपनी जिंदगी में परफेक्शन और समृद्धि पाने के लिए। इन steps को हमेशा याद रखें और अपनाएं फिर आपका perfect बनने का सपना जल्द से जल्द पूरा होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *