कैसिल चेक (Cancel Check) क्या है और कैसे बनाये?

आज के time में हर किसी के पास अपना बैंक अकाउंट होता है। खासकर जन धन योजना के बाद तो गांव गांव में लोगों के पास अपना bank account हो गया है। खाताधारक की request पर बैंक उसे चेक बुक issue करती है। Cancel check कोई अलग प्रकार का चेक नहीं होता बल्कि इसी चेक बुक में से किसी चेक को हम कैंसिल चेक बना सकते हैं।

कैंसिल चेक बनाने के तरीके के बारे में आगे बात करने से पहले मैं आपको बता दूं कि “CHECK” को “CHEQUE” भी लिखा जाता है। असल में British English में “cheque” लिखते हैँ बल्कि Americal English में “Check” लिखा जाता है। लेकिन भारत के लोग ब्रिटिश इंग्लिश को फॉलो करते हैं। इसलिए भारत के हिसाब से Cheque spelling ही सही है।

Cancel Cheque क्या होता है?

 

कैंसिल चेक कोई अलग चेक नहीं होता अपने चेक बुक में से कोई भी एक चेक निकाल कर आप उसे कैंसिल चेक बना सकते हैं। कैंसिल चेक बनाने के लिए आप अपने चेक के बीच में बड़े-बड़े दो लकीर खींचे। और उन दोनों लकीरों के बीच में capital letters यानि बड़े अक्षरों में CANCELLED लिख दें। और पूरा चेक खाली छोड़ दे फिर इसमें आपको कोई भी नाम amount या तिथि लिखने की जरूरत नहीं है। बस बन गया आपका कैंसिल चेक।

खाता धारक कैंसिल चेक अक्सर दो कारणों से बनाते हैं।

पहला कारण: अगर खाताधारक अपने अकाउंट से कुछ पैसे निकालना चाहता है या किसी को भुगतान करना चाहता है उस दौरान चेक भरते समय अगर उससे कोई गलती हो जाए तो उसे चेक कैंसिल करना पड़ता है। जिससे कि उस चेक का कोई दुरुपयोग ना कर सके।

Note: इसमें चेक भरने के बाद जब गलती हो जाए तो हम उसे cancelled लिखते हैं।

दूसरा कारण: कैंसिल चेक एक तरह के proof के रूप में भी काम करता है। किसी को कैंसिल चेक देकर हम उसे यह प्रूफ दे सकते हैं कि हमारा इस बैंक में अकाउंट है। इससे सामने वाले को account holder का नाम उसका अकाउंट नंबर और उसका IFSC कोड पता चल जाता है।

Note: इसमें हम खाली चेक में cancelled लिखते हैं।

यह भी पढ़ें : बैंक चेक कैसे भरें?

Cancelled cheque का प्रयोग:

 

चलिए अब जानते हैं कि कैंसिल चेक की आवश्यकता कहाँ कहाँ पड़ती है और इसका प्रयोग कहाँ और कैसे किया जा सकता है।

  1. बैंक के दूसरी branch/शाखा में खाता खोलने के लिए:
    अगर आप किसी बैंक में अपना अकाउंट open करने जाते हैँ तो आपसे केवल address और ID proof ही लिए जाता है लेकिन अगर आपका किसी बैंक में पहले से खाता है और आप किसी कारण ये चाहते हैँ कि आप उसी बैंक के किसी दूसरी शाखा में खाता खुलवा लें तो ऐसे में बैंक आपसे proof के रूप में cancelled cheque लें सकता है।
  2. लोन लेते समय
    अगर आप बैंक या किसी भी संस्था से कोई लोन लेते हैँ जैसे home loan, car loan आदि और आप चाहते हैँ कि उसकी भरपाई आसान किश्तों में automatically हर महीने आपके बैंक से होती रहे तो उसके लिए बैंक आपसे cancelled cheque proof के तौर पे लेती है। इससे यह साबित हो जाता है कि वह बैंक खाता आपका ही है।
  3. निवेश के लिए:
    अगर आप stock market या mutual funds में निवेश करना चाहते हैँ तो आपकी brokrage firm आपकी KYC करती है जिसमे आपको कैंसिल चेक भी जमा करना होता है।
    लेकिन groww app से निवेश बहुत आसान है। इसमें आपको cancel cheque देने कि ज़रूरत नहीं यह आधार कार्ड से ऑनलाइन ही सारी KYC कर लेते हैँ। ना ही कोई सालाना charge है इसमें। आप इस app को यहाँ click करके install कर सकते हैँ।
  4. Payment लेने के लिए
    कई बार हम online किसी company के लिए काम करते हैँ जैसे कि meesho एक ऐसी company है जिसके products आप अपने कस्टमर को sell करके अपना खुद का सेट किया हुआ मनचाहा मार्जिन कमाते हैँ, आपके मार्जिन का पेमेंट लेने के लिए company आपसे cancel cheque लेती है जिससे कि company आपके उस बैंक अकाउंट में आपके पैसे ट्रांसफर कर दे। Meesho से कमाने के लिए यहाँ क्लिक करें।
  5. बीमा पालिसी के लिए:
    आजकल हर व्यक्ति का कोई ना कोई बीमा होता ही है चाहे वह car insurance हो या life insurance. पॉलिसी का पैसा हर महीने या सालाना कटता है। इसमें या तो आप खुद प्रीमियम के पैसे online या offline जमा कर सकते हैँ या आप यह चुन सकते हैँ कि हर महीने आपके खाते से अपने आप पैसे कट जाए।
    अगर आप दूसरा विकल्प चुनते हैँ तो इसके लिए आपको cancelled cheque जमा करना होता है।

अंतिम शब्द:
दोस्तों आज हमने जाना cancelled cheque के बारे में बहुत ही विस्तार से। आशा है आपको यह post पसंद आया होगा, अगर आपको कोई भी प्रश्न है तो आप कमेंट करके पूछ सकते हैँ या हमें hindimefind@gmail.com पर लिख सकते हैँ।

1 thought on “कैसिल चेक (Cancel Check) क्या है और कैसे बनाये?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *